jab koi rasta na dikhe to kya karna chahiye | जब कोई रास्ता न दिखे तो किया करना चाहिए

Jab Koi Rasta Na Dikhe To Kya Karna Chahiye.

जब कोई रास्ता न दिखे तो किया करना चाहिए 

jab koi rasta na dikhe to kya karna chahiye

jab koi rasta na dikhe to kya karna chahiye. हर किसी के जीवन में एक ऐसा समय आता है जब वे खुद को इस दुनिया की भीड़ में अकेला पाता है और वह बिलकुल अच्छा महसूस नहीं करता ऐसे में उसके दिमाग में बुरे-बुरे ख्याल आते है और वह परेशान होने लगता है इसके बोहोत से कारन हो सकते है 

जब दुखी हो तो किया करे ( jab dukhi ho to kya kare )

अक्सर कुछ लोगो के साथ ऐसे हादसे हो जाते है जिनकी यादे उन्हें जीवन भर परेशान रहती है और आप ऐसा सोचने लगते है की आपको कोई नहीं समझता और कोई आपकी परवाह नहीं करता

आप के मन में इस तरह विचार आने लगते है जेसे आपके इस दुनिया में रहने से किसी को कोई फरक नहीं पड़ता और ऐसे में जब कोई रास्ता न दिखी दे तो किया करना चाहिए

अपने माहौल को बदलने के लिए कुछ वक्त कहीं बाहर घूमने जाएं और अपने पुराने दोस्तों से और हो सके तो कुछ नहीं दोस्त भी बनाए

इंसान का विस्वाश डगमगाने लगता है तो वह अंदर से टूटने लगता है  ऐसे में आपके आसपास के लोग या परिवार के लोग आपको अपनी अपनी राय देते हैं जो उनके अनुसार होती है

अक्सर लोग ऐसी स्थिति में डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं और कुछ ऐसे कदम उठाने के बारे में सोचने लगते हैं जो उनको और बड़ी मुसीबत में डाल सकता है कुछ लोग तो आत्महत्या  जैसे गलत विचार भी सोचने लगते हैं क्या आप  ऐसा करके अपने परिवार को और दुखी नहीं कर रहा है 

jab koi rasta na dikhe to kya karna chahiye
जब कुछ समझ न आए ( jab kuch samajh na aaye )

कभी-कभी इंसान कुछ ऐसी स्थिति में फस जाता है जब उसे कुछ नहीं सोचता क्या करें क्या नहीं करें ऐसे में उसके आसपास के लोग आपको उनके अनुभव के अनुसार सलाह देने लगते हैं और आप और उलझ जाते हैं ऐसे मैं आपको खुद पर विश्वास रखना चाहिए और फिर से एक नई शुरुआत करनी चाहिए फिर क्यों ना यह शुरुआत छोटे से ही शुरू की जाए

खुद को बदलना शुरू करो करें देखते ही देखते आप एक नए इंसान बन चुके होंगे अगर आपके अंदर कोई कमी लगती है तो उसे दूर करें  और हमेशा विश्वास रखें आप खुद को बदल सकते हैं शुरुआत तो करें

जब दिल उदास हो तो किया करना चाहिए ( jab dil udas ho to kya karna chahiye )

हम हमेशा चीजों के बुराई को ही देखते हैं तो हमें हमेशा बुराई भी नजर आती है अगर आप किसी इंसान में सिर्फ मेरा ही बोलते रहेंगे तो आपको उस इंसान की बुरा ही नजर आएगी आप उसके अंदर की अच्छाई कभी नहीं देख पाएंगे अपने को बुरा ढूंढने और बुरा सोचने से दूर रखें तभी आप उस इंसान की अच्छाइयां देख पाएंगे

हमेशा ये सोचते रहे में बोहोत परेशान हो किया करू (mai bahut pareshan hoon kya karoon) तो कुछ नहीं होगा आपको उठाना होगा और फिर से नयी श्रुवत करनी होगी  अपने मन में विश्वास रखें विश्वास उस भगवन पर जिसने आपको अभी तक जीवित रखा है और आपके शरीर को तंदुरुस्त रखा है क्योंकि आपके शरीर की सबसे बड़ी दौलत है

जैसे-जैसे आपका विश्वास बढ़ेगा उसके साथ सब कुछ सही होने लगेगा बस आपको खुद पर और भगवन पर विश्वास रखना है आप बस कर्म करते जाए एक दिन आपको इसका फल जरुर नजर आएगा

जब इन्सान परेशान हो तो क्या करे ( jab insan pareshan ho to kya kare )

हर सही काम को वक़्त लगता है लेकिन एक बार सही होना शुरू हो गया तो सब सही होता चला जाएगा और आपको पता भी नहीं चलेगा

अगर आपको सभी रास्ते बंद नज़र आ रहे हैं तो अपने अतीत को भुलाकर नए सिरे से जिंदगी को शुरू करना चाहिए और ऐसे लोगों से खुद को दूर रखे जो आपके लिए सही नहीं है और जो नेगेतिवे एनर्जी फेलाते है जो आपको डीमोटिवेट करते हैं आपको ऐसे इंसान से लड़ने की जरूरत नहीं है बस ऐसे दूरी बनाए रखें 

जब भी इंसान कुछ करता है और उसके साथ कुछ और ही हो जाता है फिर चाहे वह सही हो या गलत इसे आप ऊपर वाले की मर्जी समझकर आगे बढ़ते रहना चाहिए अगर एक मौका दिया है तो दूसरा मौका मिल जाएगा यह तो चलता ही रहता है  आपको बस आगे बढ़ते रहना है

हमारी सोच बदलती रहती है और साथ ही हमारे विश्वास भी बदलता रहता है जैसे जैसे आपकी सोच बदलेगी आपका विश्वास भी बढ़ जाएगा और आप खुद को इस दुनिया से जुड़ा पाएंगे

और इस दुनिया की हर चीज जैसे आप से जुड़ी होगी चमत्कार और फिर जो ह उसको बस अभी से महसूस करना है

jab koi rasta na dikhe to kya karna chahiye

जब जीने का मन न करे ( jab jeene ka man na kare) 

जब आपको कोई रास्ता दिखाई न दे इसका मतलब ये नहीं है के आप आत्महत्या का रास्ता चुने यह सही रास्ता नहीं है  इससे आपका जीवन व्यर्थ हो जाता है दुनिया में आने का क्या यही उद्देश्य है जीवन को आप कुछ भी इतना सीरियस ना लेकर हल्का-फुल्का रहना सीखें

नकारत्मक सोच को अपनी जिंदगी से निकाल फेंके और एक गहरी सांस लें और आने वाली जिंदगी महसूस करें और अब कुछ नया होगा आपकी जिंदगी में

क्या जब भी आपके मन में ऐसे विचार आते हैं  अब अपने परिवार का विचार करें क्या  हमें यही परवरिश मिली है  बुरा समय हर किसी की जिंदगी में आता है बस यह तो वह गांव है जो वक्त के साथ भर भी जाता है बस आपको थोड़ा सा समय देने की जरूरत है

जब कोई साथ न दे तो किया करे ( jab koi sath na de to kya kare )

दुनिया में बुरे लोग लोगों के साथ अच्छे लोगों की भी कमी नहीं है वरना यह दुनिया वरना यह दुनिया कब की खत्म हो गई होती इस दुनिया में कोई तो होगा जो आपकी परेशानी को समझेगा आपको कोशिश करते रहना चाहिए हमेशा ऐसे लोगों के साथ रहे जो आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते है 

हमने अपने जीवन जो भी असफलता देखी है उनके बारे में सोचना बंद करें और ये सोचे हमने उनसे कुछ ना कुछ तो सीखा होगा और हमेशा याद रखे असफलता ही सफलता की कुंजी है

हमने जीवन में जो भी सिखा होता है कभी व्यर्थ नहीं जाता जीवन में किसी ना किसी मोड़ पर आपको जरूर काम आता है आपके लिए आज जो चीज बेकार है समझ रहे हैं आप नहीं बता सकते जिंदगी में आपको किस मोड़ पर काम आ जाए हमेशा हमको कोशिश करते रहना चाहिए और कुछ न कुछ सीखते रहना चाहिए


आशा करते है हमारा ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आयेगा और इससे कुछ जरूर सिखंगे और जिंदगी में कभी हर नहीं मानेगे अगर आपके कुछ सवाल हो तो हमें कम्मेंट बॉक्स में जरूर लिखे 





Previous
Next Post »

10 टिप्पणियाँ

Click here for टिप्पणियाँ
Unknown
admin
31 जनवरी 2021 को 6:21 pm ×

मैं बहुत परेशान हूं काम नहीं चल रहा है पापा के ज़माने से परेशान हैं सर्राफ का काम है दुकान में एक नाक का फूल तक नहीं है काम करने के लिए पैसे नहीं है क्या करे कुछ समझ नहीं आता सरकार से सोना चांदी पर लोन भी नहीं मिलता है क्या करे कुछ समझ नहीं आता भगवान का भरोसा है मगर कब तक कुछ पता नहीं कोई सुझाव दीजिए

Reply
avatar
Unknown
admin
29 अप्रैल 2021 को 3:03 pm ×

Isko 40 age ke log le sakte hai jinko cough,gas ho

Reply
avatar
Unknown
admin
5 अगस्त 2021 को 12:29 am ×

M paresan hu do duvidhao m fasi hui hu ki kon sa rasta chunu ek mere inlaws ko pasand nhi dusra mere husband ko pasand nhi kisi ko samjha v nhi sakti

Reply
avatar
Unknown
admin
7 सितंबर 2021 को 1:20 am ×

Mera bhi ghar jal chuka h or koi inkam bhi nhi h ek beta bhi h 8 year ka jiski padai bhi nhi kra pa rahi hu na hi apna ghar mere bhi sare raste band ho Gaye h kuch samajh m nhi aa raha h

Reply
avatar
Unknown
admin
20 अक्तूबर 2021 को 4:09 pm ×

Mai bahut pareshan hu karz ke bojh se bhi jyada paresani kamai ki hai dhandha bhi band ho gaya hai bahut se Puja path bhi kiya par koi fayda nahi ho raha hai upay bataye

Reply
avatar
Gayatri
admin
9 दिसंबर 2021 को 8:31 pm ×

Mere family log hi mere pareshaani ki wajha hai mere mar janese unko koi farak b nhi pardega ye khayal aaya h mujhe kabse lekin main abhi tak zinda hun agar meri job nhi hun toh pakka m suicide kar lungi kyn saath m rehne se toh ulati sidhi baate karte h kuch karati nhi h mere ghar m padi rehti h nikla jaa ghar se ye sab sunne ko milati h main bas apna job hone ka intezar kar rehi hun uske baad alag rahungi lekin abhi jo problem h kaise solve hoga

Reply
avatar
karan moriya
admin
14 सितंबर 2022 को 11:52 pm ×

Meri family ko meri khushiya najar nhi aati . Pesa hone ke bawjud bolte he or kitne pese lagaye teri padayi me graduation kra diya or pese nhi dena.kahte he kam pese to kam hi sahi pr najdik hi job dhund le kahte he kama kr khud ki padayi ka kharcha utha. Job krke kharcha bhi uthate he to kahte he pesa barbad kr rha he.me kya to kya karu.

Reply
avatar
Mamta
admin
20 सितंबर 2022 को 12:56 pm ×

Ye article padhte samay tak me bahut pareshan thi, khud ko hara hua mehsus kar rahi thi. Lekin itne sare logo k comments padh k laga k meri to pareshani kuch bhi nahi. Mujhse bhi jyada takleef me log hai.. jo bhi mere ye comments padh raha hai, yakeen maniye apka acha waqt ane wala hai. Khud ko thoda samay dijiye. Duniya k bate ek kan se sun k dusre se nikal dijiye lekin hath pe hath rakh k mat baithiye. Yad rakhiye bhagwan bhi usi ki madad karta hai jo khud ki madad karta hai aur ye zindagi bhagwan ne ro k katne k liye nahi balki has k jeene k liye di hai. Isi vyarth na jane de. Koi bhi galat kadam uthane se pehle khud ko mauka dijiye.
Agar meri bat se kisi ko bhi himmat mile to mujhe acha lagega. Sab theek ho jaega.

Reply
avatar
Unknown
admin
22 नवंबर 2022 को 9:32 am ×

Main bhi apni life se pareshan hu dipression me hu 😔sari pareshani shadi ki wajah se hai.ek galat insan se shadi kar diye mere family..mujhe bahut dukh diya Usne.. Pahle main suside karne ka Koshish ki thi ...but is se b koi farq Nhi para...phir se meri family uske paas bhejna chahti hai... Jb Hum uspe case Karna chahe to ab girgira rha hai natak kar rha ki Maaf kar do aage se aesa Nhi hoga.... Ab achhe se rakhunga ..main Kya karu koi mera sunta Nhi h mammy papa Bhaiya Sab humko force kar rhe waha Jane K liye 😞Jb ki main ab us insan se nafrat karne lagi hu.... Main kitna baar samjgayi ki uske sath Nhi rahna chahte koi Nhi samjhta humko.... Kya kare hum

Reply
avatar